रत्न क्या है (What is Gemstone)

भारतीय ज्योतिष शास्त्रानुसार रत्न किसी ना किसी ग्रह का प्रतिनिधित्व करते हैं। रत्नों का संसार बेहद बड़ा है। रत्नों का धारण करने से मनुष्य को कई लाभ होते हैं। रत्नों का लाभ और अन्य बातें रत्न से संबंधित ग्रह पर निर्भर करती हैं। रत्नों के बारें में संपूर्ण जानकारी और राशि अनुसार रत्न धारण करने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करें।

जाने पुखराज पहनने के फायदे

जातकों को अपनी राशि के अनुसार इन पुखराज को धारण करना चाहिए। पुखराज पीले रंग का एक बेहद खूबसूरत रत्न है। इसे बृहस्पति ग्रह का रत्न माना जाता है। पुखराज की गुणवत्ता आकार, रंग तथा शुद्धता के आधार पर तय की जाती है। पुखराज (Pukhraj or Yellow Sapphire) तकरीबन हर रंग में मौजूद होते हैं|

और पढ़े

जाने नीलम रत्न पहनने के फायदे

शनि ग्रह के बुरे प्रभाव और पीड़ा शांत करने के लिए नीलम (Neelam) या नीला पुखराज धारण करने की सलाह दी जाती है। नीलम को हीरे के बाद दूसरा सबसे सुंदर रत्न माना जाता है। इसे नीलमणि, सेफायर, इंद्र नीलमणि, याकूत, नीलम, कबूद भी कहा जाता है। कहा जाता है कि यह रत्न रंक को

और पढ़े


हीरा रत्न पहनने के फायदे

रत्न ज्योतिष अनुसार बेदाग स्वच्छ हीरा शुक्र की पीड़ा शांत करता है। मान्यता है कि जो हीरा सभी गुणों से संपन्न हो और जल में डालने पर तैरता है वह सभी रत्नों में सर्वश्रेष्ठ होता है।
हीरे के बारें में रोचक तथ्य (Facts of Diamond):
हीरे के बारे में कहा जाता है कि हीरा जितना अधिक भारी होगा उतना ही वो लाभकारी भी होगा।
*हीरा बेहद मूल्यवान होता है लेकिन एक छोटे से दोष के कारण भी हीरे की कीमत में जमीन-आसमान का अंतर आ सकता है।


और पढ़े

मूंगा रत्न पहनने के फायदे

लाल रंग के मूंगा रत्न (Red Coral Stone) को मंगल ग्रह का रत्न माना जाता है। ज्योतिषी मानते हैं कि इसे धारण करने से मंगल ग्रह की पीड़ा शांत होती है। इस रत्न को भौम रत्न, पोला, मिरजान, लता मणि, कोरल, प्रवाल के नाम से भी जाना जाता है। मूंगा रत्न ज्यादातर लाल रंग का होता है परंतु यह गहरे लाल, सिंदूरी लाल, नारंगी आदि रंग के भी पाए जाते हैं।


और पढ़े


मोती रत्न पहनने के फायदे

सादगी, पवित्रता और कोमलता की निशानी माने जाने वाला मोती एक चमत्कारी ज्योतिषीय रत्न माना जाता है। इसे मुक्ता, शीशा रत्न और पर्ल (Pearl) के नाम से भी जाना जाता है। मोती सिर्फ एक रंग का ही नहीं होता बल्कि यह कई अन्य रंगों जैसे गुलाबी, लाल, हल्के पीले रंग का भी पाया जाता है।


और पढ़े


पन्ना रत्न पहनने के फायदे

पन्ना रत्न गहरे हरे रंग का होता है। बुध ग्रह की पीड़ा शांत करने के लिए पन्ना धारण करने की सलाह दी जाती है। इसे मरकत मणि, हरितमणि, एमराल्ड (Emerald ), पांचू आदि नामों से जाना जाता है। हीरा और नीलम के बाद इसे तीसरा सबसे खूबसूरत रत्न कहा जाता है। पन्ना (Emerald or Panna) बेहद कीमती होता है।


और पढ़े


माणिक्य रत्न पहनने के फायदे

माणिक्य (रूबी) को बेहद मूल्यवान रत्न माना जाता है। इसे चुन्नी और लाल भी कहा जाता है। माणिक्य का रंग लाल होता है। इसे धारण करने से सूर्य की पीड़ा शांत होती है। माणिक्य (Manikya) को अंग्रेज़ी में ‘रूबी’ (Ruby Gemstone) कहते हैं। माणिक्य के तथ्य (Facts of Manikya stone in Hindi)* माणिक्य रत्न के


और पढ़े

जाने पुखराज पहनने के फायदे

जातकों को अपनी राशि के अनुसार इन पुखराज को धारण करना चाहिए। पुखराज पीले रंग का एक बेहद खूबसूरत रत्न है। इसे बृहस्पति ग्रह का रत्न माना जाता है। पुखराज की गुणवत्ता आकार, रंग तथा शुद्धता के आधार पर तय की जाती है। पुखराज (Pukhraj or Yellow Sapphire) तकरीबन हर रंग में मौजूद होते हैं|

और पढ़े

जाने नीलम रत्न पहनने के फायदे

शनि ग्रह के बुरे प्रभाव और पीड़ा शांत करने के लिए नीलम (Neelam) या नीला पुखराज धारण करने की सलाह दी जाती है। नीलम को हीरे के बाद दूसरा सबसे सुंदर रत्न माना जाता है। इसे नीलमणि, सेफायर, इंद्र नीलमणि, याकूत, नीलम, कबूद भी कहा जाता है। कहा जाता है कि यह रत्न रंक को

और पढ़े


हीरा रत्न पहनने के फायदे

रत्न ज्योतिष अनुसार बेदाग स्वच्छ हीरा शुक्र की पीड़ा शांत करता है। मान्यता है कि जो हीरा सभी गुणों से संपन्न हो और जल में डालने पर तैरता है वह सभी रत्नों में सर्वश्रेष्ठ होता है।
हीरे के बारें में रोचक तथ्य (Facts of Diamond):
हीरे के बारे में कहा जाता है कि हीरा जितना अधिक भारी होगा उतना ही वो लाभकारी भी होगा।
*हीरा बेहद मूल्यवान होता है लेकिन एक छोटे से दोष के कारण भी हीरे की कीमत में जमीन-आसमान का अंतर आ सकता है।


और पढ़े

मूंगा रत्न पहनने के फायदे

लाल रंग के मूंगा रत्न (Red Coral Stone) को मंगल ग्रह का रत्न माना जाता है। ज्योतिषी मानते हैं कि इसे धारण करने से मंगल ग्रह की पीड़ा शांत होती है। इस रत्न को भौम रत्न, पोला, मिरजान, लता मणि, कोरल, प्रवाल के नाम से भी जाना जाता है। मूंगा रत्न ज्यादातर लाल रंग का होता है परंतु यह गहरे लाल, सिंदूरी लाल, नारंगी आदि रंग के भी पाए जाते हैं।


और पढ़े


मोती रत्न पहनने के फायदे

सादगी, पवित्रता और कोमलता की निशानी माने जाने वाला मोती एक चमत्कारी ज्योतिषीय रत्न माना जाता है। इसे मुक्ता, शीशा रत्न और पर्ल (Pearl) के नाम से भी जाना जाता है। मोती सिर्फ एक रंग का ही नहीं होता बल्कि यह कई अन्य रंगों जैसे गुलाबी, लाल, हल्के पीले रंग का भी पाया जाता है।


और पढ़े


पन्ना रत्न पहनने के फायदे

पन्ना रत्न गहरे हरे रंग का होता है। बुध ग्रह की पीड़ा शांत करने के लिए पन्ना धारण करने की सलाह दी जाती है। इसे मरकत मणि, हरितमणि, एमराल्ड (Emerald ), पांचू आदि नामों से जाना जाता है। हीरा और नीलम के बाद इसे तीसरा सबसे खूबसूरत रत्न कहा जाता है। पन्ना (Emerald or Panna) बेहद कीमती होता है।


और पढ़े


माणिक्य रत्न पहनने के फायदे

माणिक्य (रूबी) को बेहद मूल्यवान रत्न माना जाता है। इसे चुन्नी और लाल भी कहा जाता है। माणिक्य का रंग लाल होता है। इसे धारण करने से सूर्य की पीड़ा शांत होती है। माणिक्य (Manikya) को अंग्रेज़ी में ‘रूबी’ (Ruby Gemstone) कहते हैं। माणिक्य के तथ्य (Facts of Manikya stone in Hindi)* माणिक्य रत्न के


और पढ़े

जीवन में समस्याओं का कारण

मानव आजकल की जीवन शैली में अनेक समस्याओं से जूझ रहा है। जीवन में आने वाली समस्याओ का कारण और निवारण जानना अतिआवशक हो गया है। जीवन में आने वाली सभी समस्याओ का मूल कारण है शारीरिक, मानसिक और आद्यात्मिक कारण। जैसे की घर में आपसी कलह, पति–पत्नी के बीच होने वाली अनबन और झगड़े और झगड़ो के कारण पैदा होने वाला मानसिक तनाव, मादक पदार्थो का अधिक सेवन करना, प्रेम विवाह का सफल ना हो पाना, प्यार में धोखा खाना, एक तरफा प्यार, संतान प्राप्ति का ना होना, जादू -टोना करवा देना, आत्मा का साया होना, विवाह में आने वाली समस्याए, विवाह में देरी होना, नौकरी ना मिल पाना, व्यापार में वृद्धि न होना, वैवाहिक सुख ना मिल पाना, कुंडली में दोष होना, कोर्ट -कचहरी के चक्कर लगना, बुरी संगत में फस जाना, विदेश यात्रा में अड़चन पैदा होना, कर्जा हो जाना, सम्पति विवाद हो जाना, संतान का माँ-बाप का कहा न मानना, संतान प्राप्ति में आने वाली समस्याएं, समय पर गृह -निर्माण न हो पाना, अनैतिक प्रेम -संबंध पैदा हो जाना, मानसिक तनाव रहना, बच्चो का पढ़ाई में मन न लगना, सदमा लग जाना, स्वास्थय ठीक नहीं रहना, गंभीर रोग लग जाना, जुए की लत लग जाना, करियर संबंधी जानकारी का अभाव, फिजूल खर्च करने लग जाना, धन अर्जित करने में कठिनाई होना आदि.

अगर आपको भी जीवन में इस तरह की समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है तो आप भी गुरु जी से संपर्क कर सकते है। गुरु जी से संपर्क करे

हमारे बारे में

शुभ दर्पण एक ऐसी संस्थान है जहाँ आप अपनी सभी समस्याओ का समाधान पा सकते है । जैसे की गृह क्लेश, व्यापार में वृद्धि, संतान प्राप्ति के उपाय, जादू टोना से छुटकारा, बच्चो का पढाई में मन न लगना इस प्रकार की किसी भी समस्या के निवारण के लिए आप संस्थान में संपर्क कर सकते है।

संपर्क करे: 92130-92190
Contact Details

Customer Care No: 011-485-99999

Emaild Id: query@shubhdrpan.com

Opening Hours

Mon-Fri: 9:30 am to 7:00 pm

Saturday: 9:30 am to 7:00 pm

Sunday: 9:30 am to 7:00 pm

Call Us Now

01148599999

Social Media